Learn KP Astrology subscribe now

Friday, 20 August 2021

Taliban in Afghanistan: The future of the Taliban rule in coming times

 Taliban Terrorists in Afghanistan : How long will they remain

Taliban rule when will it end in Afghanistan

On 15th to 16th August 2021 terrorist organization Taliban took over Afghanistan. Today on 18th August I am writing this prediction about the future of Taliban and India. When I woke up in the morning and saw all this has happened a thought stroked me that this a blessing for the vision of India- akhand bharat. 

Readers may literally laugh at me today and most likely we will not be there to see it happening. But in the years to come Bharat will gain all that was lost due to Islamic invaders in due course and this is the beginning. If some reader of lesser age is reading this keep in mind what I have predicted. Afghanistan, Myanmar, Pakistan, Aksai China will all become akhand bharat which it was. I see it as an opportunity given by providence.

USA has a history of being selfish and creep. They think they are the super power but in 20 years their forces actually did nothing except killing osama bin laden the Islamic terrorist on their list. Taliban made them realize Vietnam. Ho Chi Min city. In India whatever government was there and is – they did things logically, USA is a country of labels and a big bunch of emotional fools and selfish politicians, so is everywhere but they leave their mark of selfishness on their every defeat.

When this has happened the two major planets are retrograde, Saturn and Jupiter. Saturn was opposing sun and Saturn was in Jupiter sub. Jupiter is in Venus sub.

Will Taliban change: As per media reports on national and international media Taliban is trying to become human!! How can a stray dog stop biting –  how can Sun rise from the south? It is all nonsense what they are trying to portray. Their disguise will come into the open domain gradually after Jupiter and Saturn will turn direct, gradually and in 2022 when 4 major planets will change their signs, we will see the reality in totality.

What is there for India: India is running the mahadasha of Moon till 2025. Mercury antara is there till 16-10-2022. After Mercury Ketu will come. 2023-2024 can be the year when Taliban will cease to exist.

Kindly mark my words that India is going to play the most important role in diminishing Taliban in the time to come. Not today or tomorrow but in the years to come, hopefully we will be there to witness it.

Financial loss to India: As the Taliban have promised they are not going to hamper the growth India is not going to loose but as it said in our scriptures, “jaake prabhu darun dukh dei taaki buddhi opehle har leyi”, this will come to the fore in the just few months in 2022.

Let’s see what unfolds.

Sunday, 15 August 2021

The right way to raise your child from conception to birth

                                         परवरिश (बस इतना ही करना है)


परवरिश जब भी यह शब्द सुनने या कहने में आता है,एक ही क्षण में भूत वर्तमान और भविष्य तीनों काल जैसे एक ही फ़्रेम में फिट हो जातें हैं ।
हमारा आज और आने वाला कल बहुत सी बातों को दर्शाता है और उन्हीं बातों पर निर्भर भी करता है।अपने पाठकों के लिए यह लेख मैं यूँही नहीं लिख रही हूँ ।इस एक शब्द को साकार करने में दो दशक मुझे भी लगे हैं ।और पालन पोषण की मेरी इस यात्रा का अनुभव आपके साथ साँझा कर रही हूँ ।


अक्सर लोग मानते हैं कि किसी भी बच्चे की परवरिश उसके जन्म से शुरू होती है,पर ऐसा नहीं है ।उसकी शिक्षा संस्कार माँ के पेट से शुरू होता है,माता पिता का संभोग भ्रूण की स्थापना और उसका पल पल गर्म में बढ़ना,हर समय मां का चिंतन मनन ज़रूरी है ।परमात्मा के ध्यान के साथ इस बात का भी ध्यान ज़रूरी है कि आपके गर्भ में पल रहा बच्चा सिर्फ़ आपके खाने और दवाओं से ही पल रहा,आपकी सोच आपके विचार आपका आचार व्यवहार हर चीज़ का असर बच्चे पर पड़ता है ।संभोग के समय माता पिता के भाव आधार होते हैं किसी बच्चे के व्यक्तित्व का,एक निश्छल संभोग एक निश्छल बालक का बीजारोपण है,केवल कामेच्छा की पूर्ति के लिए किया गया संभोग एक स्वार्थी बालक का आधार होगा।
कामेच्छा को पूरा करने के लिए सारा जीवन होता है,यदि किसी उत्पत्ति के लिए प्रयास करें तो दिन समय हर बात का ध्यान रखना होगा ।हिंदू धर्म के कई ग्रंथों में इसकी व्याख्या है।रावण संहिता में भी पूरा उल्लेख है।
गर्भवती महिला को न सिर्फ़ अपने खाने का अपितु मंत्रों का उच्चारण तथा लेखन दोनो का निरंतर अभ्यास करना चाहिए ।खाने का पहला टुकड़ा हमेशा छोटा खाना चाहिए ।अपने गर्भ में पल रहे बच्चे से निरंतर संपर्क बनाए रखना चाहिए ।और उससे हर बात करनी चाहिए ।
प्रथम गुरु माँ ही होती है,और बच्चे की शिक्षा संस्कार माँ के पेट से शुरू हो जातें हैं ।परमात्मा को साक्षी मानकर पल पल अपने बच्चे का निर्माण करना होता है ।ये नौ महीने जितना अंतर्ध्यान रहोगे उतना ही अच्छा होगा।बाहरी दुनिया के कलह क्लेश तो आजीवन चलते रहेंगे किंतु एक माँ का कर्तव्य है कि पेट में पल रहे बच्चे को हर बुराई और अच्छाई से अवगत कराती रहे।


यदि ये नौ महीने आप पूरी निष्ठा से निभाती हो यकीन मानो बाकि बच्चा जीवन बच्चे पर ज़्यादा मेहनत नही करनी पड़ेगी ।ॐ श्री गोविंदाय नम: । ये महा मंत्र बहुत फलदायक है ।


ॐनम:शिवाय रोज़ लिखना भी अच्छा रहता है।लड़का या लड़की दोनो की ही जन्म के उपरान्त समय समय पर सही मार्ग दर्शन बहुत ज़रूरी है,स्कूलों के भरोसे कभी भी बच्चो को नहीं छोड़ सकते,वहाँ केवल डिग्री ही मिलेगी उससे ज़्यादा कुछ नही।


रावण संहिता में स्वयं रावण ने लिखा है कि जो माँ बाप अपने बच्चों को सही और ग़लत की शिक्षा नही देते वह चाहे कितने ही पुण्य कर्म कर लें वह मरने के बाद नर्क में ही जातें हैं ।


बच्चो को केवल जन्म देकर अच्छा जीवन अच्छा खाना देना ही आपका काम नहीं है ।आप औलाद के रूप में समाज में एक प्राणी भी छोड़ रहे हो,उसके द्वारा किया गया हर अच्छा बुरा योगदान आपके कर्म बनाता बिगाड़ता है,आपकी परवरिश आने वाले समय में समाज देश और दुनिया के काम आ सकती है ।

और यहाँ ये दायरा कितना ही छोटा क्यूं न हो जाए कम से कम आपकी दी हुई शिक्षा उसके जीवन में तो उसके काम आएगी ।आपकी बेटी या बेटा आगे चलकर एक अन्य परिवार समाज और संसार का निर्माण करेगें जिसकी हर अच्छाई बुराई में आपका और आपकी परवरिश का ही प्रतिबिंब चमकेगा ।सिर्फ़ बीज डालने से बात नही बनेगी उसमें अच्छी परवरिश का खाद पानी देना भी ज़रूरी है ।


“बस इतना ही करना है “
सप्रेम
डा०सुधा(रेकी ग्रेंड मास्टर)

Thursday, 5 August 2021

क्या रवि दहिया आज जावुर उगुएव को हराकर गोल्ड जीत पाएंगे? कृष्णामूर्ति पद्धति प्रश्न ज्योतिष विश्लेषण

 क्या रवि दहिया आज जावुर उगुएव को हराकर गोल्ड जीत पाएंगे?
उनके फाइनल में पहुंचने से देश खुश है लेकिन लोग यह भी पूछ रहे हैं कि क्या वह आज गोल्ड जीत पाएंगे या नहीं। मैच बहुत दूर नहीं है और मैंने यह पूछने के लिए एक यादृच्छिक संख्या 52 ली कि वह स्वर्ण जीतेगा या नहीं।
नीचे चार्ट है:

Acharya Raman: 7566384193


छठा घर सभी प्रकार की प्रतियोगिताओं के लिए देखा जाता है और यहाँ इस कुण्डली में ६वें और १२वें दोनों भाव का उप स्वामी राहु है। राहु चंद्रमा के नक्षत्र में और अपने उप में है। राहु और चंद्रमा दोनों लग्न से बारहवें भाव में हैं। राहु शुक्र की राशि में है जो तीसरे भाव में है और मंगल के साथ है। यह न तो किसी ग्रह से युति है और न ही किसी ग्रह से दृष्ट है। शुक्र स्वयं ५-१२ भावों का स्वामी है इसलिए इस प्रश्न राशिफल का परिणाम यह है कि वह खेल हार जाएगा, आइए देखें कि आज क्या है।


Wednesday, 4 August 2021

Astrological Combinations to join POLICE FORCE in India - police mein selection hone ke jyotishiy yog

        police mein selection hone ke jyotishiy yog

In such a combination of horoscopes, you get a chance to serve the country.
Many people dream of becoming a soldier, police officer or IPS officer, but the way to fulfill this dream is very difficult, as well as on your horoscope, it also depends on whether your dream will be fulfilled or not.

Yes, it is true that only after the formation of some special yoga in the horoscope, a person is able to work in the field of service to the country. If you also want to join army or police then once you should take a look in your horoscope.
Such yogas are formed in the horoscope
According to Vedic astrology, Mars and Shani are the two main planets in the horoscope to motivate one to go to the field of service to the country. Due to the auspicious effect of Mars, the person becomes courageous, fearless, hardworking and gets success in his field. Courage is needed the most in the field of army and defense, so the person whose Mars is strong can make his name shine in the army. At the same time, the person remains in discipline due to the auspicious effect of Saturn. Shani Dev is also considered to be the factor of justice and punishment.


Significance of Mars, Saturn, Rahu and Ketu in Kundli
According to astrology, the person whose Mars is strong in his horoscope, there are strong chances of going to the army or police. If Mars is having an auspicious effect in these yogas, then the person goes to the army, otherwise a police job is done under the inauspicious effect of Mars.
Let us know about these yogas…
If Rahu is sitting in the ascendant or with the lord of the ascendant house or in the tenth house or the ascendant house, then the person works in the police. The relation of Mars and Ketu helps a lot to be successful in this field.
Other Yogas in Kundli


The relationship of Mars and Saturn with the tenth house or such a relationship in the Navamsa Kundli increases the chances of a person getting a job in the army or police department.
The lord of the ascendant house is Venus or it is having conjunction with Mars in the ninth house or the Moon or Jupiter being the lord of the tenth house. Saturn is the factor of discipline and public, if this planet is in conjunction with the lord of the eleventh house i.e. Sun or Mercury in the fourth house, then the person works in the police department.
In the horoscope of Pisces ascendant, if Mars is the lord of the ninth house or if it is aspecting the eleventh house, then that person works in the service of the country. When the Sun and Mercury are in the sixth house, the person spends his whole life in the service of the country.
Mars and Ketu play an important role in connecting with an intelligence agent or intelligence investigation agency. Even if it is related to the eighth house or lord, tenth house or lord, lagna or ascendant or third house or third house, the person does the work of service to the country.






Tuesday, 3 August 2021

kaisa hoga aapka aane wala varsh annnual horoscope numerology


इससे पहले के वर्षों का विवरण विडियो के डिस्क्रिप्शन बॉक्स में दिया हुआ है |

नंबर 6 साल यह सामाजिक संपर्क और मैत्रीपूर्ण माहौल का वर्ष है। आपके घर और पारिवारिक जीवन पर बहुत अधिक ध्यान दिया जाएगा। आपके मित्र और साथी प्रभावित हो सकते हैं लेकिन वे मजबूत हाथों वाली रणनीति का जवाब देने में काफी धीमे होंगे। आप अधिक सहज दृष्टिकोण विकसित करेंगे। दृष्टिकोण अधिक प्रफुल्लित करने वाला होगा और आपके निर्णयों पर अधिक प्रभाव डालेगा। इस साल आप चाहे घर पर हों या घर से दूर हों, आपका मन घरेलू मामलों में व्यस्त रहेगा। आपको अपने परिवार की जिम्मेदारियां संभालने की संभावना है और आपके लिए बजट को संतुलित करना मुश्किल होगा। इस वर्ष दांपत्य जीवन सुखी और सौहार्दपूर्ण रहेगा। आपके आस-पास के आराम और संस्कृति में आपके जीवन के बौद्धिक और भावनात्मक पहलुओं का सही मिश्रण होना चाहिए। नंबर 7 साल यह शांति का वर्ष है। इसे आसानी से पूरा किया जाना चाहिए क्योंकि 7 नंबर स्वभाव से बौद्धिक है और आपकी मानसिक क्षमताओं को उत्तेजित करना चाहिए। आपके मामले धीरे-धीरे आगे बढ़ेंगे। दूरी से संबंधित मामलों पर तुरंत ध्यान देना चाहिए ताकि उस दिशा में सौभाग्य आ सके। दूर-दराज के दोस्तों और रिश्तेदारों से अपना पत्र व्यवहार रखें। यदि आप करियर की शुरुआत कर रहे हैं, तो यात्रा या संचार से संबंधित किसी एक को चुनना अच्छा रहेगा। संभावना है कि किसी महत्वपूर्ण मामले में आपको गलत तरीके से प्रस्तुत किया जाएगा या गलत समझा जाएगा और अपनी बात को स्पष्ट करना बेहद मुश्किल होगा। आपका स्वभाव एक अधिक सकारात्मक प्रकार के व्यक्ति द्वारा अनुकूलित किया जाएगा, जिसका आपके जीवन से बहुत कुछ लेना-देना होगा। आपका दिमाग अधिक कल्पनाशील रहेगा लेकिन आप अधिक मूडी भी रहेंगे। नंबर 8 साल आने वाले वर्ष में अतीत की छाया का भारी प्रभाव होना निश्चित है। इस साल आपके फैसलों में समाज के बड़े सदस्यों का दबदबा रहने की संभावना है। त्वरित परिणामों की तलाश न करें। सभी संकेत धीमी गति से चलने की ओर इशारा करते हैं, बल्कि बार-बार होने वाली देरी और निराशाओं के साथ एक कठिन प्रवृत्ति की ओर इशारा करते हैं। आपको अपने मामलों को बेहतर स्तर पर व्यवस्थित करने के लिए अतिरिक्त जिम्मेदारियों के अवसर मिल सकते हैं। खरीदारी से कुछ लाभ होगा लेकिन यह बेचने के लिए अनुकूल समय नहीं है। त्वरित लाभ की अटकलों की तुलना में बीमा और सरकारी प्रतिभूतियों में निवेश अधिक विवेकपूर्ण साबित होगा। इस वर्ष के दौरान आपको ऊर्जा और बल प्रदान किया जाता है। आपको इस शक्ति का रचनात्मक और रचनात्मक तरीके से उपयोग करना चाहिए। इस वर्ष आपकी सभी कार्यकारी शक्तियाँ सामने हैं और आपको किसी भी स्थिति को नियंत्रित करने में सक्षम होना चाहिए। आपका सबसे बड़ा पुरस्कार आपको उस संतुष्टि के रूप में मिल सकता है जो आपको यह जानकर प्राप्त होता है कि आपका आचरण नैतिक है और आप न केवल स्वयं को बल्कि मानव जाति को भी बेहतर बनाने का प्रयास कर रहे हैं। नंबर 9 वर्ष इस साल आप कई तरह के अनुभवों की उम्मीद कर सकते हैं। नंबर 9 नौ साल के चक्र के समापन का प्रतिनिधित्व करता है और यह एक प्रकार के जीवन के अंत और दूसरे की शुरुआत को नए सिरे से आशा और उत्साह के साथ इंगित करता है। इस वर्ष के प्रति आपका मनोवैज्ञानिक दृष्टिकोण बहुत महत्वपूर्ण है। आपको यह रवैया विकसित करना चाहिए कि सभी चीजें समाप्त हो जाती हैं-लेकिन नए के लिए रास्ता बनाने के लिए। आप इस वर्ष अनुभव करेंगे कि आप अपने छापों पर विश्वास के साथ भरोसा कर सकते हैं। अंक ९ भोगवाद का शासक है और यह एक अनुकूल वर्ष है जिसमें आप इन पंक्तियों के साथ अपनी पढ़ाई को आगे बढ़ा सकते हैं। सकारात्मक प्रकार का लाभ उठाएं, कला की सभी संस्कृति, ज्ञान और प्रशंसा प्राप्त करने के लिए जो कि नंबर 9 का पक्षधर है। यह वर्ष अधिक तेज और आक्रामक रहेगा। परिणाम Io को भाग्य के साथ कड़ी लड़ाई का नेतृत्व करेगा, लेकिन बाधाएं आप पर हैं। झगड़ों में शामिल न होने के लिए सावधान रहें। अधीरता का सामान्य स्वर निश्चित रूप से घर्षण को भड़काएगा और आप विवादों में शामिल होंगे। अपने साथियों से जितना अधिक धक्का-मुक्की और आगे बढ़ेंगे, आपके जीवन पर उतना ही अधिक प्रभाव पड़ेगा। बेहतर होगा कि आप उनकी बात सुनें ताकि आपको उनसे कई उपयोगी संकेत और जानकारी मिल सके। आप बहुत अधिक आवेगी, लापरवाह और महत्वाकांक्षी हो जाएंगे। भाषण अधिक प्रत्यक्ष, जोरदार और स्पष्ट होगा। इस प्रकार हमने आपके वर्ष चक्र का महत्व पूरा किया है।

Monday, 2 August 2021

Gold Medal for India in Tokyo Olmpics or not: KP Horary analysis In Hindi

Gold Medal for India in Tokyo Olmpics or not: KP Horary analysis In Hindi

क्या भारत ओलंपिक 2021 में स्वर्ण जीतेगा : कृष्णामूर्ति पद्धति क्या कहती है?

Acharya Raman: 7566384193
मैं यह फलादेश प्रणाम हाथ जोड़कर अपने गुरु महाराज जी, श्री कृष्णामूर्ति जी को , सहासने जी को इस कामना के साथ लिख रहा हूं कि भारत इस ओलंपिक 2021 टोक्यो जापान में स्वर्ण पदक जीते।

 मैंने एक यादृच्छिक संख्या 117 ली और नीचे कुंडली है। मुझे नहीं पता कि इसकी भविष्यवाणी कैसे की जाए, लेकिन 6 वां 11 वां और लग्न कस्प को 11 वें घर से जुड़ना  चाहिए, सूर्य और 10 वें घर से भी जुड़ना चहिये । आइए देखें कि चार्ट क्या प्रकट करता है:

India winning Gold or not in Tokyo Olympics 2021

लग्न बुध राशि में चंद्र नक्षत्र और बुध उप में है। बुध दसवें भाव में है। कर्क राशि में बुध दशम भाव में सूर्य के साथ है। छठे भाव का उप स्वामी बृहस्पति है। यह वक्री है लेकिन मंगल ग्रह के नक्षत्र में है। मंगल 11वें भाव में है। 11वें भाव का उप स्वामी शुक्र है। यह अपने तारे में और 11वें घर में है। बृहस्पति सूर्य के दशम भाव में स्थित है। इस प्रकार, हम देखते हैं कि ६ वें भाव का १०-११ घरों के साथ उचित संबंध है और बहुत मजबूत संबंध है।
यदि हम सत्तारूढ़ ग्रहों को देखें तो वे हैं:
एएससी स्टार: चंद्रमा
लग्न : बुध
चंद्रमा तारा: सूर्य
चंद्र राशि स्वामी: शुक्र
दिन स्वामी : चंद्रमा
मुझे पूरा यकीन है कि भारत इस टोक्यो जापान ओलंपिक 2021 में कम से कम 1 स्वर्ण पदक जीतेगा।चलिए देखते हैं की क्या होता है |