Skip to main content

Posts

Showing posts from April, 2020

Native Got Afflcited By Coronavirus Hindi

एक फलादेश सत्य हुआ किन्तु दुखी करा: जातिका कोरोना वायरस से संक्रमित हुई यह पिछले अगत सितम्बर (२०१९) के महीने की बात है | एक जातिका ने एक मध्यस्थ के द्वारा अपनी और अपने परिवार की कुंडली भेजी थी | मैं सभी के जवाब दे रहा था | उन्होंने मुझसे अपनी आयु के बारे में पूछ लिया| आम तौर पर यह प्रश्न का उत्तर नहीं दिया जाता है अतः मैंने उनसे कहा की आप कोई और सवाल कर लीजिये | ऐसे प्रश्नों का उत्तर देने में असुविधा रहती है क्योंकि हम नहीं जानते की प्रश्न कर्ता कितना गंभीर है और अगर उत्तर उसके मन माफिक नहीं होता तो वह बहुत दुखी भी हो   सकता है और डिप्रेशन में भी जा सकता है | लेकिन वे अड़ गई | तो मैंने दोबारा उनकी कुंडली देखी | उस समय मंगल में चंद्रमा का अंतर चल रहा था और   राहू की महादशा शुरू होने वाली थी | राहू की महादशा अक्टूबर के महीने से शुरू होने वाली थी |  राहू पर द्रष्टि डालें तो राहू कुंडली में छठे भाव में बैठा हुआ है | यह शुक्र के नक्षत्र में है और शुक्र कुंडली में ३-८ भावों का स्वामी है | शुक्र चतुर्थ भाव में है | शुक्र का नक्षत्र स्वामी स्वयं राहू ही है | राहू का उप – नक्षत