Skip to main content

Neem Karoli Maharaj ji accepts the woolen cap hand woven by Sudha ji

राम राम राम राम राम राम राम राम राम राम राम राम राम राम राम राम राम राम राम राम राम राम राम राम राम राम राम राम राम राम राम राम राम राम राम राम राम राम राम राम राम राम राम राम राम राम राम राम

It was since long Sudha ji wished to weave a cap and present it
to Maharaj ji and on one trip to Kainchi recently she went to the temple and it was afternoon and the pujari ji was not there. there was some other person doing the things and she offered the cap and asked whether it can be given to maharaj ji immediately? The person replied that it will be given tomorrow morning Maharaj ji wears new clothes from the morning and not at this hour. It was around 12 pm or 2 pm i dont remember exactly and sorry for this mistake of mine. So he kept the cap on maharaj ji`s lap and we came back from there and she was willing deeply that Maharaj ji should accept the cap. 
This is not the same cap but the one she offered to maharaj ji was made with the same wool and everything but it did not had the spiral design. She tried to capture the moment but photography is restricted there so the picture was not taken but the satisfaction is there that Maharaj JI accepted it.

On the way back while crossing the small bridge we saw the regular pujari ji and offered our pranams and Sudha ji asked him whether Maharaj ji can wear the cap now and he said why not !!!! So he said come with me and we went back and he covered the head of maharaj ji that time itself. It was the wish of Maharaj ji and he wanted to wear it and bestow his grace on her as she has made it by her hands. 
It was not a co-incidence that the pujari ji was coming back at the same time when we were leaving the premises it was all the love and grace of Maharaj ji BY HIS GRACE :-) 

राम राम राम राम राम राम राम राम राम राम राम राम राम राम राम राम राम राम राम राम राम राम राम राम राम राम राम राम राम राम राम राम राम राम राम राम राम राम राम राम राम राम राम राम राम राम राम राम

Comments

Popular posts from this blog

दिल्ली विधान सभा चुनाव २०२० कौन मारेगा बाजी : ज्योतिषीय आकलन

(यह लेख मेरे मूल अंग्रेजी लेख का गूगल हिंदी अनुवाद है मूल लेख के लिए यहाँ क्लिक करें   who will win 2020 delhi vidhan sabha election ) for horoscope consultation wattsapp only 7566384193 आज नई दिल्ली में चुनाव की तारीखें घोषित कर दी गई हैं। मुख्य प्रतियोगी AAP, BJP, INC हैं और मज़ेदार हैं कि वे न केवल वर्णानुक्रम में सही हैं, बल्कि वास्तविक स्थिति भी नई दिल्ली में हैं। आइए हम सभी तीनों पक्षों के बारे में कुछ बात करते हैं और मेरी यह "बात" केवल मीडिया समाचार रिपोर्टों पर आधारित है और मेरे विचार बिल्कुल व्यक्तिगत नहीं हैं। इसलिए, AAP के साथ शुरू करने के लिए अब आम आदमी या आम आदमी के लिए बहुत कुछ किया जा रहा है और वे अपने चुनावी वादों को लागू करने में बहुत सफल रहे हैं जैसा कि उनके फेस बुक पोस्ट और समाचार विज्ञापनों में बताया गया है। इसलिए मैं कहूंगा कि वे काम कर रहे हैं और अब जब मैं मीडिया को देखता हूं और लोग सामाजिक व्यस्तताओं पर बात करते हैं तो मैं इस पार्टी AAP के बारे में एक सकारात्मक शब्द सुनता हूं। दूसरी पार्टी में आना, जो कि भाजपा है जो पहले से ही केवल 6 राज्यों मे

मेनोपॉज़ या रजोनिवृत्ति के समय कैसे रखें ख़ुद का ख़याल

आज लेख की शुरुआत दोस्तों या मित्रों से नहीं प्रिय सहेलियों से करूँगी।क्योंकि बात मेरी और आपकी है।हर औरत के जीवन में कई पड़ाव आते हैं और हर पड़ाव को हम औरतें बख़ूबी निभाती है।मेनोपॉज़ या मासिक धर्म का बंद होना ये भी एक फ़ेज़ होता है।शारीरिक और मानसिक दोनों ही तौर पर एक बड़ा बदलाव हमारे जीवन में आता है।उम्र के उस मोड़ पर औरत होती है जब खुद का स्वास्थ्य परिवार बच्चे सभी आपको धीरे-धीरे छोड़ रहे होते हैं।बच्चे अपने जीवन में व्यस्त होने लगते हैं।पति की व्यस्तता परिवार को पालने के चरम पर होती है।और आपकी मौजूदगी बस उनकी ज़रूरतों तक सीमित हो जाती है। और शरीर का चल रहा सालो पुराना चक्र भी बिगड़ जाता है।जिससे एक अवसाद डिप्रेशन आपको घेर लेता है।चिड़चिड़ापन घबराहट ग़ुस्सा आना ये आपकी नई आदत बन जाता है।डॉक्टर के पास जाकर बिना बात के हॉर्मोन्स लेना कदापि कोई इलाज नहीं होता ये और एक बड़ी गलती आप करती हो।जब भी बढ़ती उम्र में पीरियड बिगड़ें तो    बस एक अल्ट्रासाउंड करवा लें कि सब ठीक है या नहीं और ३-४ महीने में इसे रिपीट करें।मेनोपॉज़ एक नैचुरल प्रोसेस है जो अपने तरीक़े से होना ही है।इसमें कोई

रेकी से पहला कैंसर का उपचार : सुधा रेकी

रेकी का तीसरे स्तर का शक्तिपात (Reiki level three attunement ) प्राप्त हुआ ही था की मुझे पता चला की मेरी सहेली ने एक दिन बताया की उसके पड़ोस में रहने वाले रहने वाली एक छह साल की बच्ची को कैंसर डिटेक्ट हुआ है Best Certified Reiki Products From Amazon Buy Now |  उसके ऊपरी मसूड़ों में कैंसर था जो की धीरे धीरे ऊपर की तरफ बढ़ रहा था | डॉक्टरों ने बोल दिया था की ऑपरेशन करना पड़ेगा लेकिंग बच्ची का चेहरा बिगड़ जाएगा और अगर उसको बढ़ने दिया तो जीवन अधिक शेष नहीं है |  मैंने अपने रेकी मास्टर से इसके बारे में बात करी लेकिन उन्होंने बहुत निराशाजनक उत्तर देकर बात को टाल दिया, लेकिन उन्होंने ही एक बार कहा था की एक रेकी हीलर को हर संभव प्रयास करना चहिये और मैंने करा भी यही Best Certified Reiki Products From Amazon Buy Now |  रेकी से ऊर्जान्वित करके मैंने अपनी सहेली के द्वारा उस बच्ची को पानी और क्रिस्टल माला भिजवाई और उसकी हीलिंग शुरू कर दी | जब जब बच्ची सोती तो उसकी माँ मुझे फोन करती और मैं उस बच्ची की हीलिंग करती |  डॉक्टरों ने कुछ मोहलत दी थी की अगर उस  बच्ची का कैंसर अगली जांच में और आ