Learn KP Astrology Click Here

Monday, 23 December 2019

Neem Karoli Maharaj ji accepts the woolen cap hand woven by Sudha ji

राम राम राम राम राम राम राम राम राम राम राम राम राम राम राम राम राम राम राम राम राम राम राम राम राम राम राम राम राम राम राम राम राम राम राम राम राम राम राम राम राम राम राम राम राम राम राम राम

It was since long Sudha ji wished to weave a cap and present it
to Maharaj ji and on one trip to Kainchi recently she went to the temple and it was afternoon and the pujari ji was not there. there was some other person doing the things and she offered the cap and asked whether it can be given to maharaj ji immediately? The person replied that it will be given tomorrow morning Maharaj ji wears new clothes from the morning and not at this hour. It was around 12 pm or 2 pm i dont remember exactly and sorry for this mistake of mine. So he kept the cap on maharaj ji`s lap and we came back from there and she was willing deeply that Maharaj ji should accept the cap. 
This is not the same cap but the one she offered to maharaj ji was made with the same wool and everything but it did not had the spiral design. She tried to capture the moment but photography is restricted there so the picture was not taken but the satisfaction is there that Maharaj JI accepted it.

On the way back while crossing the small bridge we saw the regular pujari ji and offered our pranams and Sudha ji asked him whether Maharaj ji can wear the cap now and he said why not !!!! So he said come with me and we went back and he covered the head of maharaj ji that time itself. It was the wish of Maharaj ji and he wanted to wear it and bestow his grace on her as she has made it by her hands. 
It was not a co-incidence that the pujari ji was coming back at the same time when we were leaving the premises it was all the love and grace of Maharaj ji BY HIS GRACE :-) 

राम राम राम राम राम राम राम राम राम राम राम राम राम राम राम राम राम राम राम राम राम राम राम राम राम राम राम राम राम राम राम राम राम राम राम राम राम राम राम राम राम राम राम राम राम राम राम राम

Saturday, 21 December 2019

नौकरी कब मिलेगी : कृष्णामूर्ति पद्धित विश्लेषण

नौकरी पाना हमेशा मुश्किल होता है और जब करियर की शुरुआत होती है तो एक विजयी लकीर के साथ शुरुआत करना बेहद जरूरी होता है। 2000 में पैदा हुए इस मूल निवासी को नौकरी मिल गई क्योंकि वह एथिकल हैकिंग में मास्टर है और एथिकल हैकिंग के लिए कई प्रस्तुतियां और कक्षाएं कर रहा है। वह नई दिल्ली से हैं। एथिकल हैकिंग सीखने के लिए बहुत बढ़ती धारा बन गई है और लोग इसमें शानदार काम कर रहे हैं। हालांकि वह पहले पूर्णकालिक नौकरी रोल पर नहीं थे। कई कंपनियां और अब कई तरह की निजी और सरकारी एजेंसियां ​​चाहती हैं कि हैकर्स उनके ऐप या वेबसाइट में बग ढूंढ सकें। इस प्रकार कोई आश्चर्य नहीं कि यदि आप इसे जल्दी सीखते हैं तो आप इस धारा में अपने बाद के जीवन में महान कार्य करेंगे। जितना अधिक आप जानेंगे उतना ही अधिक पैसा आप कमाएंगे।

यहाँ का मूल निवासी तुला लग्न और मेष चन्द्रमा है। वह वर्तमान में 11-05-2020 तक शुक्र की महादशा चला रहा है और वर्तमान अंतराणु केतु का है जो कि अंतिम अंतरा है। केतु को सूर्य के तारे में तीसरे और शुक्र के उप में रखा गया है। मैंने इस मूल के माता-पिता को एक साल पहले बताया था कि जब यह केतु शुरू होगा तो आपका बेटा काम करना शुरू कर देगा। उसने केतु अंतरा से आगे की कमाई शुरू कर दी, लेकिन उसके पास पूर्णकालिक नौकरी नहीं थी। 7 दिसंबर 2020 को उन्हें एक साक्षात्कार का सामना करना पड़ा और 9 दिसंबर को नियुक्ति पत्र के साथ नियुक्ति पत्र दिया गया जिसमें 16 दिसंबर 2020 तक शामिल होने की तारीख थी।

बृहस्पति प्रतिहार चल रहा है। बृहस्पति 6 वें भाव में है। यह केतु के तारे में और राहु के उप में है। केतु चार्ट में तीसरे भाव में और 9 वें में राहु है। राहु और केतु दोनों शुक्र के उप में हैं जो तीसरे घर में है। केतु शत्रु सूर्य है और राहु इसके स्वामी हैं और सूर्य 11 वें भाव का स्वामी है।
उन्हें 9 दिसंबर को नियुक्ति पत्र मिला जब सूरज बुध के तारे और चंद्रमा के उप में गोचर कर रहा था। 16 तारीख को सूर्य शामिल होने के दिन केतु के उप में थे और अंतरा स्वामी। सूर्य बृहस्पति धनु राशि में है। 7 दिसंबर 2020 को सूर्य बुध के तारे और शुक्र के उप में गोचर कर रहा था। शुक्र महशा दशा स्वामी है। इस प्रकार हम देखते हैं कि पूरा इंटरव्यू, अपॉइंटमेंट और ज्वाइनिंग का दिन सूर्य या तो महादशा या अंतरा या प्रत्यंतर या उन दोनों से जुड़ा था। यही कारण है कि केपी Ssystem में एक घटना को इंगित करने के लिए सूर्य का पारगमन इतना महत्वपूर्ण है।
भुगतान प्रक्रिया पूरी करके आप मुझसे अपने प्रश्न भी पूछ सकते हैं। 7566384193 पर मुझे वाट्सएप करें।


naukaree paana hamesha mushkil hota hai aur jab kariyar kee shuruaat hotee hai to ek vijayee lakeer ke saath shuruaat karana behad jarooree hota hai. 2000 mein paida hue is mool nivaasee ko naukaree mil gaee kyonki vah ethikal haiking mein maastar hai aur ethikal haiking ke lie kaee prastutiyaan aur kakshaen kar raha hai. vah naee dillee se hain. ethikal haiking seekhane ke lie bahut badhatee dhaara ban gaee hai aur log isamen shaanadaar kaam kar rahe hain. haalaanki vah pahale poornakaalik naukaree rol par nahin the. kaee kampaniyaan aur ab kaee tarah kee nijee aur sarakaaree ejensiyaan ​​chaahatee hain ki haikars unake aip ya vebasait mein bag dhoondh saken. is prakaar koee aashchary nahin ki yadi aap ise jaldee seekhate hain to aap is dhaara mein apane baad ke jeevan mein mahaan kaary karenge. jitana adhik aap jaanenge utana hee adhik paisa aap kamaenge.
yahaan ka mool nivaasee tula lagn aur mesh chandrama hai. vah vartamaan mein 11-05-2020 tak shukr kee mahaadasha chala raha hai aur vartamaan antaraanu ketu ka hai jo ki antim antara hai. ketu ko soory ke taare mein teesare aur shukr ke up mein rakha gaya hai. mainne is mool ke maata-pita ko ek saal pahale bataaya tha ki jab yah ketu shuroo hoga to aapaka beta kaam karana shuroo kar dega. usane ketu antara se aage kee kamaee shuroo kar dee, lekin usake paas poornakaalik naukaree nahin thee. 7 disambar 2020 ko unhen ek saakshaatkaar ka saamana karana pada aur 9 disambar ko niyukti patr ke saath niyukti patr diya gaya jisamen 16 disambar 2020 tak shaamil hone kee taareekh thee.
brhaspati pratihaar chal raha hai. brhaspati 6 ven bhaav mein hai. yah ketu ke taare mein aur raahu ke up mein hai. ketu chaart mein teesare bhaav mein aur 9 ven mein raahu hai. raahu aur ketu donon shukr ke up mein hain jo teesare ghar mein hai. ketu shatru soory hai aur raahu isake svaamee hain aur soory 11 ven bhaav ka svaamee hai.
unhen 9 disambar ko niyukti patr mila jab sooraj budh ke taare aur chandrama ke up mein gochar kar raha tha. 16 taareekh ko soory shaamil hone ke din ketu ke up mein the aur antara svaamee. soory brhaspati dhanu raashi mein hai. 7 disambar 2020 ko soory budh ke taare aur shukr ke up mein gochar kar raha tha. shukr mahasha dasha svaamee hai. is prakaar ham dekhate hain ki poora intaravyoo, apointament aur jvaining ka din soory ya to mahaadasha ya antara ya pratyantar ya un donon se juda tha. yahee kaaran hai ki kepee ssystaim mein ek ghatana ko ingit karane ke lie soory ka paaragaman itana mahatvapoorn hai.
bhugataan prakriya pooree karake aap mujhase apane prashn bhee poochh sakate hain. 7566384193 par mujhe vaatsep karen.

sarkari naukri by date of birth

sarkari naukri ka yog in kundli by date of birth

sarkari naukri ke yog kaise bante hai

rashi ke anusar naukri

kundli mein naukri

sarkari naukri yoga

sarkari naukri by date of birth in hindi

government job yog in my kundli free