Sunday, 18 August 2019

Riki Level 1 & 2 Completed by Yoga Teacher Priyanka

Reiki in Noida, #Reiki classes in #Noida, Learn Reiki in Noida, Noida Reiki classes, You can also learn Reiki online or offline in Noida. You can learn Reiki on wattsapp video, Google Hangout, Reiki classes, dowsing, crystal healing

Saturday, 17 August 2019

Learn #Reiki in Noida

Reiki classes in #Noida  #Noida #Reiki classes call 9650008266 

Astrology classes in Noida

Astrology classes in Noida, Noida Astrology center, Noida Astrology hub, Numerology classes in Noida. Astrology, Numerology Classes in Noida

Wednesday, 7 August 2019

Reiki Grand Master attenuation imparted at Bhopal

 

Snehal Sharma at #Bhopal became #Reiki #Grandmaster on 6th of August 2019. Wishing her a great career ahead in healing and teaching. She is already practising #Reikihealing successfully and now she can attune for Masters and Grand Masters. 

Saturday, 20 July 2019

उमरिया जिले मध्य प्रदेश के मंदिर

मध्यप्रदेश का #उमरिया जिला कोयले की खदान पर बसा हुआ छोटा सा कस्बा जैसा जिला है। लेकिन यहां पर अधिकतर रेल रुकतीं हैं क्योंकि यहां बहुत कोयला है। यहां बहुत सारे मंदिर हैं जिनको आप इस ब्लॉग में देख सकते हैं।

शबरी माता मंदिर उमरिया 

शबरी माता मंदिर उमरिया 





प्राचीन सिद्ध  ज्वालामुखी मंदिर उमरिया 

हनुमानजी मंदिर सागरा 

Sunday, 23 June 2019

कैंचीधाम नीम करोली बाबा के स्थान में फ़ैल रही राजनितिक गन्दगी


जब हम पिछले वर्ष बाबाजी के स्थान पर गए थे तो वहाँ पर किसी भी व्यक्ति आदि का कोई पोस्टर बैनर नहीं लगा हुआ था | कोई दुकानदार , व्यापारी आदि बाबाजी के नाम से अपना कार्य प्रारंभ करते हैं तो अच्छी ही बात होती है क्योंकि यह उनका अपना विश्वास है | विश्वास से दुनिया कायम है |

लेकिन धीरे धीरे यह देखने में आने लगा की भारतीय जनता पार्टी के छोटे मोटे टटपुन्जिये छाप नेता अपनी शकल दिखवाने के लिए और लोगों पर ज़बरदस्ती अपने छवि बनाने के लिए अपने बैनर कट आउट पोस्टर आदि चिपकवाने लगे हैं और इस बार तो हद ही हो गयी | वहाँ इतने सारे राजनितिक लोगों के पोस्टर देखने को मिले और अधिकतर या कह लीजिये सभी भारतीय जनता पार्टी के नेता लोगों के ही थे |

अपने छुद्र अहंकार के प्रदर्शन के लिए यह दल वैसे भी सालों से जाना जाता है और इनके किसी पार्षद के भी जन्मदिन आदि के होने पर इनके चमचे बड़े बड़े पोस्टर लगवा देते हैं और अपनी मानसिक जाहिलता का परिचय देते हैं |

सिर्फ एक मोदी के नाम पर ही कितने फाल्रू लोग जिनको अपनी गले के कुत्तों का भी वोट नहीं मिल सकता वो सांसद बन गए और जब भिखारी के पास दौलत बरसती है तो वो पागल जैसी हरकत ही करने लगता है यही हाल इन नीच अभिमानी लोगों का हो रहा है |

मुझे निजी रूप से कोई दिक्कत नहीं है ये चाहें जहाँ अपनी बेहूदा शकल और अकल की नुमाइश करते रहे लेकिन जब पवित्र स्थलों पर इन जैसे सत्ता के मल मूत्र चाटने वाले लोगों को देखता हूँ तो मुझे बहुत कोफ़्त होती है और क्रोध भी आता है और मन में भरे बहुत सरे अपशब्द भी इनको बोलने का मन होता है लेकिन मन मसोस के रह जाता हूँ |

ये घटिया नस्ल के राजनीतिग्य या उनके चमचे या संतानें हैं जो धर्म इश्वर को अपने बाप का माल समझ कर बैठ गए हैं | और यह बात इस दल के लिए आने वाले समय में बहुत बुरी होने वाली है | धर्म अध्यात्म इश्वर को अपनी बपौती ही यह भारतीय जनता पार्टी के नेता सांसद विधायक समझ कर बैठ गए हैं | 

आज मोदी अगर किसी कारणवश अपने पद और राजनीती से हट जाते हैं अथवा काल के ग्रास बन जाते हैं तो इनमें से ९० प्रतिशत लोगों को गली का कुत्ता भी पूछने वाला नहीं है यह सर्वमान्य तथ्य  है | चाहे तो वे किसी और दल से चुनाव लड़ कर देख सकते हैं |

 फिर अपने पद अथवा बाप के पैसे का इतना भद्दा भोंडा प्रदर्शन किस लिए ? क्या ये लोग यह खुशफ़हमी पाल कर बैठे हुए हैं कि  इनके करण ही इनका अस्तित्व है ? ये लोग ठीक उस कुत्ते की तरह हैं जो बैलगाड़ी के नीचे चलता है तो सोचता है की बैलगाड़ी उसके करण ही चल रही है | इस से ज्यादा कुछ नहीं |

और जहाँ तक समझ आता ये ये श्वान सुधरेंगे नहीं अपनी नीचता का प्रदर्शन करते ही रहेंगे | जैसे लगभग एनी धर्म स्थलों पर इनकी फोटू किसी घटिया मुद्रा में देखने को मिल जाती है वैसी ही स्थिति अप मेरे बाबाजी के स्थल की भी होने लगी है और यह देख कर मेरेको बहुत दुःख है और मन में क्षोभ है |

जो भी वहाँ के लोकल लोग इस ब्लॉग को पड़ें तो अवश्य वहां के नेता लोगों से अनुरोध करें की अपनी गन्दगी अपने पास ही रखिये बाबाजी के पास से दूर करिए |






#कैंची #कैंचिधाम #भाजपा #भारतीयजनतापार्टी  #बाबानीमकरोली  #नीमकरोलीबाबा   

Saturday, 8 June 2019

Babaji Saves again: Miracles of Neem Karoli Babaji




It was 11th of May 2019, My train was scheduled from New Delhi to some place and from there I had to go to Amarkantak in search of Neem Karoli Babaji. It was a hot day and I was really not feeling good that day and there was something wrong in the day which I was not able to catch up with. A pigeon in a very bad shape came into the lawn and I saw it and thought he is going to die. 

Anyways, I got afraid because such a thing has never happened. I was now getting other thoughts like not going to the destination and the train was at 9 pm. Making a hard stand, I went to the station and slept well. I told to my friend also that this thing has happened and the reply was don`t worry Babaji will take care.

I also said in my heart that it is you who has to take care because my heart was really pounding with fear and anxiety. 

Morning came and I reached the destination. I got a call from the maid who cooks for all of us, she asked, "did you forgot to lock the door", and I was like NO I said why would I and How can I , what happened, she said the door is open, I said to go inside and see what happened, she went inside and saw that the clothes were all over the place and I told her to do a wattsapp video but she could not connect and told me that everything is just here and there. She then collected everything from everywhere and kept back.

My heart was getting out of control and I asked did you see a small packet in the locker of almirah and she replied nothing is there, but then she said that there is something on the floor. So that was some kind of solace for me. But my mind was stuck. That was my portable hard disk which had a lot of files and other important and crucial data. So that is why I was worried. 

Days passed away and I spent my time in Amarkantak and almost forgot everything till the time I reached home. So many things happened and I have shared them all with you. The moment I entered I ran to the almirah and found it. 

I cannot tell you how relieved I was because it contained something of the utmost value for me. There was no cash as I am not Ambani Tata etc so there is never cash at the place I sleep and eat. The only thing I could do is thank Babaji and Siddhi Maa for protecting that valuable. 

That pigeon did die the next day or in the night I cannot say but she told me in the morning that he is no more.







When Babaji is with us there is no need to worry about anything, is what I have gathered in this small time. He is in my heart, soul breath everywhere just like....
श्रीराम जय राम जय जय राम श्रीराम जय राम जय जय रामश्रीराम जय राम जय जय रामश्रीराम जय राम जय जय रामश्रीराम जय राम जय जय रामश्रीराम जय राम जय जय रामश्रीराम जय राम जय जय रामश्रीराम जय राम जय जय रामश्रीराम जय राम जय जय रामश्रीराम जय राम जय जय रामश्रीराम जय राम जय जय रामश्रीराम जय राम जय जय रामश्रीराम जय राम जय जय रामश्रीराम जय राम जय जय रामश्रीराम जय राम जय जय रामश्रीराम जय राम जय जय रामश्रीराम जय राम जय जय रामश्रीराम जय राम जय जय रामश्रीराम जय राम जय जय रामश्रीराम जय राम जय जय रामश्रीराम जय राम जय जय रामश्रीराम जय राम जय जय रामश्रीराम जय राम जय जय रामश्रीराम जय राम जय जय रामश्रीराम जय राम जय जय रामश्रीराम जय राम जय जय रामश्रीराम जय राम जय जय रामश्रीराम जय राम जय जय रामश्रीराम जय राम जय जय रामश्रीराम जय राम जय जय रामश्रीराम जय राम जय जय रामश्रीराम जय राम जय जय रामश्रीराम जय राम जय जय रामश्रीराम जय राम जय जय रामश्रीराम जय राम जय जय रामश्रीराम जय राम जय जय रामश्रीराम जय राम जय जय रामश्रीराम जय राम जय जय राम